जानीये - महिलाए सेक्स के लिए लालायित कब रहती है? Sex karne ko mahila kab machal jati hai?

जानीये - महिलाए सेक्स के लिए लालायित कब रहती है? Sex karne ko mahila kab machal jati hai?

यदि आप महिलाओ की सेक्स के प्रति रुचि होने के बारे में जानना चाहते है तो सबसे पहले यह बात भी जान लीजिए कि महिलाये भी पुरुषों से कम कामुक नहीं होती हैं। इनमे सिर्फ इतना फर्क है कि पुरुष की कामुकता जल्दी समाप्त हो जाती है परन्तु महिलाये अपनी कामुकता को छुपाकर रखना चाहती है और जब तक जरुरी न हो तब तक उनकी कामुकता का आसानी से पता नहीं लगाया जा सकता है।


महिलाओ में कामुकता के बहुत से केंद्र हैं परन्तु उन केंद्रों के बारे में जानने से पहले यह भी जानना जरुरी है कि उनमें काम उत्पत्ति कब होती है।
  • ओव्यलैशन के समय- ओव्यलैशन जैविक रुप से सेक्स का सर्वोत्तम समय है क्योंकि इस वक़्त महिलाओं के हार्मोन्स काफी सक्रिय होते हैं। एस्ट्रोजन का स्तर अक्सर उच्च होता है और कभी-कभार ही कम होता है। साथ ही इस समय प्रोजेस्ट्रॉन का स्तर भी काफी ऊंचा होता है जिससे महिलाओं को सेक्स की डिज़ायर बहुत अधिक होती है। दिलचस्प बात यह है कि ओव्यलैशन के समय महिलाओं में पुरुषों को आकर्षित करने के लिए फेरोमेन्स (pheromones) का भी निर्माण होता है। इसलिए यह दिन सेक्स के लिए काफी अच्छा होता है।
  • पीरियड्स के दौरान- पीरियड्स के दौरान भी महिलाओं को सेक्स की तीव्र इच्छा होती है। दरअसल इस वक़्त हार्मोन्स के स्तर में व्यापक रुप से बदलाव आते हैं और लड़कियां सेक्सुअली अराउज़ होती हैं। यही नहीं पीरियड्स में सेक्स से गर्भधारण की संभावनाएं भी बहुत कम होती हैं। साथ ही ज़्यादा लुब्रिकेशन की वजह से पेनीट्रेशन काफी आसान होता है।
  • दूसरा ट्राइमेस्टर- प्रेगनेंसी के दूसरे ट्राइमेस्टर में महिलाओं के शरीर में एस्ट्रोजन और प्रोजेस्ट्रोन के स्तर में काफी अधिक बढ़ोतरी होती है और इसी वजह से उन्हें सेक्स की इच्छा होती है। हालांकि बहुत-सी महिलाएं इस बात को समझ नहीं पाती क्योंकि उन्हें इस दौरान बदनदर्द, मतली और थकान जैसी समस्याएं भी महसूस होती रहती हैं। वैसे दूसरी तिमाही में जहां डिज़ायर अधिक होती है वहीं थर्ड ट्राइमेस्टर में यह कम हो जाती है।

No comments:

Post a Comment