एक बार एक मास्टर जी की एक गाँव के स्कूल में बदली हो गई - Jabardast joke hai jaraa dil tham ke padhiyega

एक बार एक मास्टर जी की एक गाँव के स्कूल में बदली हो गई. पहले ही दिन क्लास में जाते ही उसने सभी बच्चों को अपना परिचय दिया और फिर सभी बच्चों से बारी - बारी परिचय लेने लगे...

मास्टर जी - बच्चो आज छुट्टी होने में कम समय बचा है इसलिए आज सभी केवल अपना नाम और अपनी पसन्द बताओ बाकि जानकारियां बाद में होती रहेगी.. पहले लड़के अपना परिचय देंगें फिर लड़कियां..
.
पहला लङका - मेरा नाम कुल्लू है और मुझे ईमरती पसन्द है.
दूसरा लङका - मेरा नाम चुल्लू है और मुझे भी ईमरती पसन्द है.
तीसरा लङका - मेरा नाम रवि है और मुझे भी ईमरती पसन्द है.
चौथा लङका - मेरा नाम सोनू है और मुझे भी ईमरती पसन्द है.

इस प्रकार सभी लड़कों ने अपने नाम बता दिए और सभी ने अपनी पसंद में ईमरती बताया.

मास्टर जी - very good सबकी पसन्द एक है...

फिर मास्टर जी ने लड़कियों से भी अपना नाम और पसंद बताने को कहा.
.
पहली लङकी - मेरा नाम ईमरती है...

यह सुनते ही टीचर बेहोश....

No comments:

Post a Comment

Recomended for You

loading...