loading...
fddd

शादीशुदा लोगों के लिए सैक्सशिक्षा जरुरी क्यों Shadishuda logon ke liye saxshiksha jaruri kyo

शादीशुदा लोगों के लिए सैक्सशिक्षा जरुरी क्यों Shadishuda logon ke liye saxshiksha jaruri kyo - आज के इस विषय को पढ़कर शायद आप यह सोच रहें होंगे कि शादीशुदा लोगों को सैक्सशिक्षा की क्या जरूरत है. जब शादी हो ही गई है तो इस के बारे में अब उन्हें किसी अन्य से जानने की क्या जरुरत है. लेकिन दोस्त सैक्सशिक्षा का मतलब है सुरक्षित सम्बन्धों की जानकारी होना.


चाहे कोई शादीशुदा है या कुंवारा, सैक्सशिक्षा का महत्व सभी के लिए बराबर है. लड़कियों के लिए तो सैक्सशिक्षा का होना बहुत ही ज्यादा जरुरी है. क्योंकि लड़की की उम्र 18 वर्ष की हो जाते ही उसे विवाह के योग्य समझकर उसकी शादी के बन्धन में बांध दिया जाता है, लेकिन सैक्सशिक्षा के अभाव के कारण उसे कई तरह की स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं से लड़ना पड़ता है।

हमारे समाज में लोग इस शब्द का नाम लेना ही गलत समझते है, जिसके कारण इसकी सही शिक्षा नहीं मिल पाती है। लेकिन अब समाज शिक्षित हो रहा है लोगों की इसके प्रति यह धारणा बदल रही है। आज लगभग 50 % लड़कियां भी इस बात को मानने लगी है की विवाहित जीवन में सैक्सशिक्षा होनी अति आवश्यक है। स्त्री-पुरुष दोनों ही सैक्सशिक्षा को विवाहित जीवन को सफल और सुखमय बनाने के लिए आवश्यक मानने लगें है।

शादीशुदा लोगों को सैक्सशिक्षा की जरूरत इसलिए भी है कि वे अनचाहे गर्भ व यौनरोगों से बचने की पूरी जानकारी लेकर अपने जीवन को सुरक्षित बना सकें। असुरक्षित यौनसंबंधों से बचकर यौनरोगों का शिकार होने से बच सकें। सैक्सविशेषज्ञों द्वारा भी लड़के-लड़कियों को युवावस्था में शादी से पहले ही इससे संबंधित शिक्षा देने के सुझाव मिलते है। यदि लड़के-लड़कियों को इसके बारे में सही जानकारी युवावस्था में ही मिल जाएगी तो उन्हें विवाहित जीवन में किसी प्रकार की समस्याओं का सामना नहीं करना पड़ेगा और उनके अधूरे ज्ञान के कारण विवाहित जीवन को होने वाले नुकशान को भी रोका जा सकेगा। यदि आप भी सैक्सशिक्षा को महत्वपूर्ण मानते है तो इस पोस्ट को लाइक करें.


loading...