एक जाट का छोरा नया नया ब्याहा था - Haryanvi kasute Jokes aur SMS

प्रिय दोस्त यदि आप हरयाणवी जोक्स पढ़ने के इच्छुक है तो आप इस पोस्ट पर अपनी इस इच्छा को पूरा कर सकते हो. क्योंकि हम आपके लिए हरयाणवी जोक्स और एस एम एस लेकर हाजिर हुए है. आप इस वेबसाइट पर दिए गए सभी जोक्स और एस एम एस बिना किसी शुल्क के पढ़ सकते हो....

तू के आपणी भूआ कै आ रही सै ?

एक जाट का छोरा नया नया ब्याहा था, पहली बार ससुराल गया । उसनै घणा बोलण की आदत थी, चुपचाप ना रहया जाया करता । उसकी सासू भी कुछ कम नहीं थी, सारा दिन फिजूल की बात करती रही ।

सांझ नै सास परेशान हो-गी, छोरा तै उसतैं भी घणा बोलै था । वा आपणे उस बटेऊ तैं बोली - "बेटा, सुसराड़ में घणा ना बोल्या करते" ।

छोरे नै फट जवाब दिया - " तू के आपणी भूआ कै आ रही सै ? तेरी भी तै ससुराड़ सै हाड़ै" !!

चवन्नी की मोल ए दे दे

सुरते की सास घणी कंजूस थी । वो जब भी ससुराल जाता तो उसकी सास प्याज और चटनी रख देती और चटनी में घणी मिर्च होया करती । सुरते जिस जगह खाना खाने बैठता था, उसके पास एक खांड की बोरी भरी रखी थी ।

एक बै उसका मुंह घणा कसूता जळ-ग्या और वो खांड की बोरी की तरफ हाथ करके अपनी सास से बोला - "सासू जी, चवन्नी की (खांड) मोल ए दे दे !"