दुल्हा sms पढ रहा हैँ Dulha sms padh rahaa hai

दुल्हा sms पढ रहा हैँ Dulha sms padh rahaa hai.

दूर इशारोँ से बात नही होती,
आंसू बहाने से बरसात नही होती।

ये जिँदगी ख्वाब नही हकीकत है मेरे दोस्त,
क्यो की आंखे बंद करने से रात नही होती।।


एक बंदरीया अपनी माँ से पुछती है माँ मेरा दुल्हा कौन हैँ।
माँ बोलती हैँ, बेटी वो देखो, तुम्हारा दुल्हा वो है जो sms पढ रहा हैँ।
------------------------------------------------------------------

अजब तेरे नखरे गजब तेरा स्टाईल हैँ,
नाक पोछने की तमीज नहीँ और हाथ मेँ मोबाईल हैँ।
खुदा की खुदाई को दुनिया मानती हैँ,
लेकिन खुदा को कोई मानता नहीँ।
दुनिया को झुठ से नफरत हैँ,
लेकिन सच मगर कोई बोलता भी नहीँ।

MHB2013 

Recomended for You

loading...